1 Best Essay on football in Hindi | रोमांचक फुटबॉल मैच | फुटबॉल पर निबंध

हैल्लो दोस्तों कैसे है आप सब आपका बहुत स्वागत है इस ब्लॉग पर। हमने इस आर्टिकल में Essay on football in Hindi | रोमांचक फुटबॉल मैच | फुटबॉल पर निबंध पर 1 निबंध लिखे है जो कक्षा 5 से लेकर Higher Level के बच्चो के लिए लाभदायी होगा। आप इस ब्लॉग पर लिखे गए Essay को अपने Exams या परीक्षा में लिख सकते हैं

क्या आप खुद से अच्छा निबंध लिखना चाहते है या अच्छा निबंध पढ़ना चाहते है तो – Essay Writing in Hindi


एक रोमांचक फुटबॉल मैच पर निबंध | Essay on football in Hindi

खला का मानव जीवन में बहुत महत्त्व है। शैशवकाल से ही बच्चा हाथ-पैर मार कर शरीर को विकास करता ह। बड़ा होने पर वह कई प्रकार की ऐसी क्रीडाएँ करता है जिनसे उसका शरीर स्वस्थ और मन प्रसन्न वाह। भ्रात्त्व भावना बढ़ती है और वह अनुशासन-प्रिय बन जाता है। साथ ही उसकी सहनशक्ति बढ़ जाती है, जावन में आने वाली कठिनाइयों का सामना करने में वह अपेक्षाकृत अधिक समर्थ हो जाता है।

खेल दो प्रकार के होते हैं। एक वे हैं जो कमरे के अन्दर खेले जाते हैं, जैसे ताश, शंतरज, केरम आदि | तथा दूसर खल मैदानी होते हैं। क्रिकेट, फटबॉल, हाकी, कबड़ी आदि इसी कोटि में आते हैं। जो खेल कमरे के भीतर खेले जाते हैं उनसे मनोविनोद होने के साथ-साथ बुद्धि का विकास भी होता है।

इन सभी में मेरा प्रिय खेल ‘फटबॉल’ है। इस खेल से शरीर मजबूत होता है। यह 120 गज लम्बे और 90 गज चौड़े मैदान में खेला जाता है। दो टीमों के बीच यह खेल बडे उत्साह और जोश के साथ खेला जाता है। रैफरी या निर्णायक सीटी बजाकर हार जीत का निर्णय करता है।

गत मास हमारे स्कूल के प्रांगण में एक फुटबाल मैच खेला गया। यह मैच हमारे स्कूल और सेंट जेवियर स्कूल की टीम के बीच हुआ। हमारी टीम के खिलाड़ियों की पोशाक सफेद थी जबकि दूसरे स्कूल के खिलाड़ियों को पोशाक नीली थी। दर्शकगण असंख्य थे। विशेष अतिथि उपराज्यपाल थे। दोनों टीमों के कप्तानों के सामने रेफ्री ने टॉस किया। दोनों टीमों के 22 खिलाड़ी उत्साह-उल्लास से भरे हुए मैदान में उतरे। रेफ्री महोदय की सीटी बजाते ही खेल आरम्भ हुआ।

हमारी टीम के खिलाड़ी फुटबॉल लेकर आगे बढ़े। दूसरी टीम के खिलाड़ियों ने फुटबॉल छीनने का प्रयास किया। काफी समय तक बॉल इधर से उधर और उधर से इधर होती रही। खेल जोरों पर चला, पर कोई टीम गोल न कर सकी। रेफ्री के सीटी बजाते ही खिलाड़ियों ने मध्य अवकाश के लिए मैदान छोड़ दिया। खिलाड़ियों को सन्तरे खाने को दिये गये।

सीटी बजते ही दोनों टीमों के खिलाड़ी फिर नए उत्साह से मैदान में उतरे। पैरों की चोट खाकर बॉल इधर से उधर होने लगी। हमारे कप्तान ने एक ऐसी किक लगाई कि बॉल विपक्षियों के गोलपोल के समीप पहुँच गई। हमारे दूसरे खिलाड़ी ने अवसर पाकर उसे दूसरी किक मार कर गोल कर दिया। तालियों की गड़ागड़ाहट से मैदान गँज उठा।

सेंट जेवियर स्कूल की टीम ने गोल उतारने का भरसक प्रयत्न किया, परन्तु असफल रही। ठीक समय पर सीटी बजाकर खेल की समाप्ति हुई। दोनों टीमों के कप्तानों ने आपस में हाथ मिलाया। मुख्य अतिथि ने पुरस्कार वितरण किये। उस दिन बड़ा आनन्द आया।

खेलों से अनेक लाभ हैं। इससे खिलाड़ी न केवल अपने स्कूल का नाम उज्ज्वल करते हैं, अपितु वे अपने | देश का नाम भी चमकाते हैं। शारीरिक शक्ति के विकास के साथ इससे साथ-सहयोग की भावना भी बढ़ती है। अतः हमें खेलों में अवश्य भाग लेना चाहिए।


तो दोस्तों आपको यह Essay on football in Hindi | रोमांचक फुटबॉल मैच | फुटबॉल पर निबंध पर यह निबंध कैसा लगा। कमेंट करके जरूर बताये। अगर आपको इस निबंध में कोई गलती नजर आये या आप कुछ सलाह देना चाहे तो कमेंट करके बता सकते है।

हमारे Instagram के पेज को फॉलो करें – Hindifacts

Leave a Comment