Easy Learn Sarvanam सर्वनाम – Paribhasha, Bhed | Pronoun in Hindi in 2021

हैल्लो दोस्तों कैसे है आप सब आपका बहुत स्वागत है इस ब्लॉग पर। हमने इस आर्टिकल में Sarvanam (सर्वनाम) Pronoun in Hindi डिटेल में पढ़ाया है जो कक्षा 5 से लेकर Higher Level के बच्चो के लिए लाभदायी होगा। आप इस ब्लॉग पर लिखे गए Sarvanam (सर्वनाम) Pronoun in Hindi को अपने Exams या परीक्षा में इस्तेमाल कर सकते हैं


निम्नलिखित को ध्यान से पढ़िए –

मोहन ने सोहन को कहा कि सोहन मोहन को आज सौ रुपए उधार दे-दो, क्योंकि मोहन को आज रुपयों की सख्त जरूरत है और सोहन के अतिरिक्त मोहन की कोई सहायता नहीं कर सकता; क्योंकि सोहन ही मोहन का सच्चा मित्र है।

उपर्युक्त गद्य-खंड की भाषा बड़ी अटपटी और भद्दी लगती है। क्यों?

क्योंकि उसमें ‘मोहन’ और ‘सोहन’ बार-बार दोहराए गए हैं। यदि इनकी जगह उसको, उसने, उससे, वह आदि शब्दों का प्रयोग करके निम्नलिखित रूप में इस गद्य-खंड को लिख देते तो वह सुंदर और स्वाभाविक लगता।

मोहन ने सोहन को कहा कि तुम मुझे आज सौ रुपए उधार दे-दो; क्योंकि मुझे आज रुपयों की सख्त जरूरत है और तुम्हारे अतिरिक्त मेरी और कोई सहायता नहीं कर सकता; क्योंकि तुम ही मेरे सच्चे मित्र हो।

अब गद्य-खंड सुंदर-स्वाभाविक क्यों लगने लगा?

इसलिए कि ‘मोहन’ और ‘सोहन’ संज्ञा शब्दों के स्थान पर वह, उसे, तुम मैं, मुझे आदि शब्दों का प्रयोग कर दिया गया। संज्ञा मोहन और सोहन के स्थान पर प्रयुक्त होने वाले ये सभी शब्द सर्वनाम हैं।

  • सम्पूर्ण वर्ण – विचार पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।
  • यदि आपको इंग्लिश भाषा में पढ़ना पसंद है तो यहाँ क्लिक करें – Bollywoodbiofacts

सर्वनाम किसे कहते है? (Sarvanam kise kahte hai) – Sarvanam ki Paribhasha

संज्ञा के स्थान पर प्रयुक्त होने वाले शब्द सर्वनाम कहलाते हैं।

जैसे – मैं, हम, मुझे, तू, तुम, तुम्हें, कौन, क्या, किसे, यह, वह, वे आदि।

सर्वनाम का अर्थ (Pronoun in hindi Meaning)

सर्वनाम को ‘सर्वनाम’ इसलिए कहा जाता है; क्योंकि यह सबका नाम है। ‘सर्व+नाम =सर्वनाम (जो सबका नाम हो, वह सर्वनाम है) मैं, हम, तू, तुम, वह, वे सबके नाम होने के कारण ही सर्वनाम हैं।

सर्वनाम के भेद (Sarvanam ke bhed)

सर्वनाम (Sarvanam) के कुल 5 bhed है।

  1. पुरुषवाचक सर्वनाम (Personal Pronoun)
  2. निश्चयवाचक सर्वनाम (Demonstrative Pronoun)
  3. अनिश्चयवाचक सर्वनाम (Indefinite Pronoun)
  4. सबंधवाचक सर्वनाम (Relative Pronoun)
  5. प्रश्नवाचक सर्वनाम (Interrogative Pronoun)

पुरुषवाचक सर्वनाम

जिन सर्वनामों से कहने वाले, सुनने वाले और जिसके बारे में बात कर रहे हो, उनका बोध होता है, उन्हें पुरुषवाचक सर्वनाम कहते हैं।
जैसे – कहने वाला ‘मैं’, सुनने वाला, ‘तू’, अन्य जिसके बारे में बात हो-वह।

पुरुषवाचक सर्वनाम के भेद

उत्तम पुरुष (First Person)

जिस सर्वनाम को बोलने वाला अपने लिये प्रयुक्त करे, वह उत्तम पुरुष होता है।
जैसे – मैं, हम।

मध्यम पुरुष (Second Person)

जिस सर्वनाम को बोलने वाला सुनने वाले के लिए प्रयुक्त करे उसे मध्यम पुरुष कहते हैं।
जैसे – तू, तुम।

अन्य पुरुष (Third person)

जिस सर्वनाम को बोलने वाला अन्य पुरुष के लिए प्रयुक्त करे, वह अन्य पुरुष कहलाता है।
जैसे-वह, वे।

निश्चयवाचक सर्वनाम

जो सर्वनाम (Sarvanam) किसी निश्चित वस्तु के बदले आए, उसे निश्चयवाचक सर्वनाम कहते हैं।
जैसे – यह मेरा घर है। वह रमेश की पुस्तक है।
यहाँ ‘यह’ और ‘वह’ शब्द किसी निश्चित संज्ञा के बदले आ रहे हैं। ये शब्द निश्चयवाचक सर्वनाम हैं।

अनिश्चयवाचक सर्वनाम

जो सर्वनाम किसी अनिश्चित संज्ञा के बदले प्रयुक्त किए जाएँ, उन्हें अनिश्चयवाचक सर्वनाम कहते हैं।
जैसे – यहाँ कोई आया था और कुछ लाया था। यहाँ ‘कोई’ और ‘कुछ’ अनिश्चयवाचक सर्वनाम हैं।

संबंधवाचक सर्वनाम

जो सर्वनाम (Sarvanam) शब्द एक-दूसरे के साथ सम्बन्ध बताते हैं, उन्हें संबंधवाचक सर्वनाम कहते हैं।
जैसे – जैसी करनी, वैसी भरनी। जो करेगा, सो भरेगा। यहाँ ‘जैसी’, ‘वैसी’, ‘जो’, ‘सो’ शब्द संबंधवाचक सर्वनाम हैं।

प्रश्नवाचक सर्वनाम

जिन सर्वनामों से प्रश्न का बोध हो उन्हें प्रश्नवाचक सर्वनाम कहते हैं।
जैसे– यहाँ कौन आया था? वह क्या लाया था?) यहाँ ‘कौन’ और ‘क्या’ प्रश्नवाचक सर्वनाम हैं।

सर्वनाम शब्दों की रूप-रचना

सर्वनाम (Sarvanam) शब्द विकारी होते हैं। परन्तु लिंग के कारण इनमें कोई परिवर्तन नहीं आता। ये पुल्लिग तथा स्त्रीलिंग दोनों रूपों में समान रहते हैं। वचन और कारक के कारण इनमें परिवर्तन आता है। इनमें सम्बोधन कारक। नहीं होता।

पुरुष वाचक सर्वनाम के रूप

कारकएकवचनबहुवचन
कर्तामैं, मैंनेहम, हमने
कर्ममुझे, मुझकोहमें, हमको
करणमुझसेहमसे
सम्प्रदानमेरे लिएहमारे लिए
अपादानमुझसेहमसे
सम्बन्धमेरा, मेरे, मेरीहमारा, हमारे, हमारी
अधिकरणमुझमें, मुझ परहम में, हम पर

मध्यम पुरुष ‘तू’

कारकएकवचनबहुवचन
कर्तातू, तूनेतुम, तुमने
कर्मतुझे, तुझकोतुम्हें, तुमको
करणतुझसेतुमसे
सम्प्रदानतेरे लिएतुम्हारे लिए
अपादानतुझसेतुमसे
सम्बन्धतेरा, तेरे, तेरीतुम्हारा, तुम्हारे, तुम्हारी
अधिकरणतुझ में, तुझ परतुम में, तुम पर

अन्य पुरुष ‘वह’

कारकएकवचनबहुवचन
कर्तावह उसनेवे, उन्होंने
कर्मउसको, उसेउनकों, उन्हें
करणउससेउनसे
सम्प्रदानउनके लिएउनके लिए
अपादानउससेउनसे
सम्बन्धउसका, उसके, उसकीउनका, उनके, उनकी
अधिकरणउसमें, उस परउनमें, उन पर

निश्चयवाचक सर्वनाम

कारकएकवचनबहुवचन
कर्तायह, इसनेये, इन्होंने
कर्मइसे, इसकोइनका इन्हें
करणइससे, इसके द्वाराइनसे, इन लोगों के द्वारा
सम्प्रदानइसके लिएइनके लिए
अपादानइससेइनसे
सम्बन्धइसका, के, कीइनका इनके, इनकी
अधिकरणइसमें, इस परइनमें, इन पर

अनिश्चयवाचक ‘को’

कारकएकवचनबहुवचन
कर्ताकोई, किसी नेकिन्हीं ने
कर्मकिसी कोकिन्हीं को
करणकिसी सेकिन्हीं से
सम्प्रदानकिसी के लिएकिन्हीं के लिए
अपादानकिसी सेकिन्हीं से
सम्बन्धकिसी का, के, कीकिन्हीं का, के, की
अधिकरणकिसी में, किसी परकिन्हीं में, किन्हीं पर

सम्बन्धवाचक ‘जो’

कारकएकवचनबहुवचन
कर्ताजो, जिसनेजो, जिन्होंने
कर्मजिसको, जिसेजिनको, जिन्हें
करणजिससेजिनसे
सम्प्रदानजिसके लिएजिनके लिए
अपादानजिससेजिनसे
सम्बन्धजिसका, जिसके, जिसकीजिनका, जिनके, जिनकी
अधिकरणजिसमें, जिस परजिनमें, जिन पर

प्रश्नवाचक ‘कौन’

कारकएकवचनबहुवचन
कर्ताकौन, किसनेकौन लोग, किन्होंने
कर्मकिसेकिनको, किन्हें
करणकिससेकिन से
सम्प्रदानकिसके लिएकिन के लिए
अपादानकिससेकिन से
सम्बन्धकिसका, किसके, किसकीकिनका, किनके, किनकी
अधिकरणकिसमें, किस परकिन में, किन पर

Note – सर्वनाम (Sarvanam) शब्दों का सम्बोधन नहीं होता।

निजवाचक सर्वनाम

जो सर्वनाम (Sarvanam) निज या अपने आपको बताए,उसे निजवाचक सर्वनाम कहते है।
जैसे – तुम अपने आप चले जाओ।


तो दोस्तों आपको यह Sarvanam (सर्वनाम) Pronoun in Hindi पर यह article कैसा लगा। कमेंट करके जरूर बताये। अगर आपको इस निबंध में कोई गलती नजर आये या आप कुछ सलाह देना चाहे तो कमेंट करके बता सकते है।

Leave a Comment