शब्द (Shabd) (शब्द-विचार) – Paribhasha, Bhed और उदाहरण – Hindi Vyakaran

हैल्लो दोस्तों कैसे है आप सब आपका बहुत स्वागत है इस ब्लॉग पर। हमने इस आर्टिकल में शब्द (Shabd) (शब्द-विचार) डिटेल में पढ़ाया है जो कक्षा 5 से लेकर Higher Level के बच्चो के लिए लाभदायी होगा। आप इस ब्लॉग पर लिखे गए शब्द (Shabd) (शब्द-विचार) को अपने Exams या परीक्षा में इस्तेमाल कर सकते हैं


Morphology-in-hindi

राम पढ़ता है। सीता लिखती है।

ऊपर दो वाक्य हैं। पहले वाक्य में तीन शब्द हैं-‘राम’, ‘पढ़ता’ और ‘है’। दूसरे वाक्य में शब्द हैं- ‘सीता’, ‘लिखती’ और ‘है’।

शब्द किसे कहते हैं (Shabd kise kahate hain)

ये शब्द कई वर्णों के मेल से बने हैं। इन शब्दों का अर्थ भी है। अत: वर्णों के सार्थक मेल को शब्द कहते हैं। जैसे- राम, सीता आदि।

शब्द के कितने भेद होते हैं (Shabd ke bhed kitne hote hain)

अर्थ की दृष्टि से शब्द के दो भेद हैं

  1. सार्थक
  2. निरर्थक

सार्थक शब्द किसे कहते है ?

जिन शब्दों का कुछ अर्थ निकले, उन्हें सार्थक शब्द कहते हैं। जैसे-राम, सीता, आगरा आदि।

निरर्थक शब्द किसे कहते है ?

जिन शब्दों का कोई अर्थ न निकले, उन्हें निरर्थक शब्द कहते हैं। जैसे-पी-पी, को-कों आदि।

विकार की दृष्टि से शब्द के दो भेद

  1. विकारी शब्द
  2. अविकारी शब्द

विकारी शब्द (Declinable) किसे कहते है ?

वे शब्द, जिनका रूप बदलता है, विकारी शब्द कहलाते हैं।
जैसे – लड़का, लड़की, लड़कियाँ आदि।

अविकारी शब्द (Indeclinable) किसे कहते है ?

वे शब्द, जिनके रूप में विकार या परिवर्तन नहीं आता, अविकारी शब्द कहलाते हैं।
जैसे – और, किन्तु, परन्तु आदि।

विकारीअविकारी
संज्ञाक्रियाविशेषण
सर्वनामसंबंधबोधक
विशेषणयोजक/समुच्चयबोधक
क्रियाविस्मयादिबोधक

प्रयोग के अनुसार शब्द-भेद

  1. संज्ञा (Noun)
  2. सर्वनाम (Pronoun)
  3. विशेषण (Adjective)
  4. क्रिया (Verb)
  5. क्रियाविशेषण (Adverb)
  6. सम्बन्धबोधक (Preposition)
  7. योजक, समुच्चयबोधक (Conjunction)
  8. विस्मयादिबोधक (Interjection)

व्युत्पत्ति (बनावट) के आधार पर शब्द-भेद

Shabd-Bhed

रूढ़ किसे कहते है ?

जिन शब्दों के खण्डों का कोई अर्थ न हो, उन्हें रूढ़ कहते हैं।
जैसे – पानी = पा + नी, नदी = न + दी।

यौगिक किसे कहते है ?

जो शब्द दो या दो से अधिक शब्दों के योग से बने हों, उन्हें यौगिक कहते हैं।
जैसे – पाठ + शाला = पाठशाला, हिम + आलय = हिमालय

योगरूढ़ किसे कहते है ?

जो दो या दो से अधिक शब्दों के मेल से बने हों और किसी विशेष अर्थ को स्पष्ट करें, उन्हें योगरूढ़ कहते हैं।
जैसे – दश + आनन = दशानन = रावण।

उत्पत्ति के अनुसार शब्द-भेद

  1. तत्सम
  2. तद्भव
  3. देशज
  4. विदेशी

तत्सम शब्द किसे कहते है ?

जो शब्द सीधे संस्कृत भाषा से आए हैं, तत्सम कहलाते हैं।
जैसे – जल, अग्नि, माता, पिता आदि।

तद्भव शब्द किसे कहते है ?

वे शब्द जो तत्सम के बदले हुए रूप हैं, तद्भव कहलाते हैं।
जैसे – अग्नि =आग, क्षेत्र = खेत।

देशज शब्द किसे कहते है ?

वे शब्द जो क्षेत्रीय प्रभाव के कारण हिन्दी में आवश्यकतानुसार पैदा हो गए हैं, देशी या देशज कहलाते हैं।
जैसे – पेट, पगड़ी, रोड़ा, गाड़ी, लड़का आदि।

विदेशी शब्द किसे कहते है ?

वे शब्द जो विदेशी भाषाओं से हिन्दी भाषा में आए हैं, विदेशी कहलाते हैं।
जैसे – रेडियो, मशीन आदि।

अंग्रेजी भाषा के शब्दरेल, रेडियो, मशीन, साइकिल, स्टेशन आदि।
अरबी भाषा के शब्दअमीर, गरीब, अल्लाह, मुल्ला आदि।
तुर्की भाषा के शब्दकुली, कैंची, चेचक, चिक आदि।
फारसी भाषा के शब्दबीमार, आदमी, गुलाब, खूबसूरत आदि।
फ्रांसीसी भाषा के शब्दपुलिस, इंजीनियर आदि।
यूनानी भाषा के शब्दटेलीग्राम, टेलीफोन आदि।
चीनी भाषा के शब्दचाय, लीची आदि।
जापानी भाषा के शब्दरिक्शा, आदि

तो दोस्तों आपको यह शब्द (Shabd) (शब्द-विचार) पर यह निबंध कैसा लगा। कमेंट करके जरूर बताये। अगर आपको इस निबंध में कोई गलती नजर आये या आप कुछ सलाह देना चाहे तो कमेंट करके बता सकते है।

Leave a Comment