Easy Learn Kal काल – Paribhasha, Bhed | Tense in Hindi in 2021

हैल्लो दोस्तों कैसे है आप सब आपका बहुत स्वागत है इस ब्लॉग पर। हमने इस आर्टिकल में Kal (काल) Tense in Hindi डिटेल में पढ़ाया है जो कक्षा 5 से लेकर Higher Level के बच्चो के लिए लाभदायी होगा। आप इस ब्लॉग पर लिखे गए Kal (काल) Tense in Hindi को अपने Exams या परीक्षा में इस्तेमाल कर सकते हैं


काल किसे कहते है – Kal ki Paribhasha

क्रिया के जिस रूप से कार्य के होने अथवा करने के समय का पता चले, उसे काल कहते हैं।
जैसे

राम पुस्तक पढ़ रहा है।वह समय जो चल रहा है।वर्तमानकाल
राम पुस्तक पढ़ रहा था।बीता हुआ समयभूतकाल
राम पुस्तक पढ़ेगा।आने वाला समयभविष्यत्काल

काल के भेद – Kal ke Bhed

  1. वर्तमान काल (Present Tense )
  2. भूतकाल (Past Tense)
  3. भविष्यत् काल (Future Tense)

वर्तमान काल – Vartman Kal

जो चल रहे समय का बोध कराए, उसे वर्तमान काल कहते हैं।
जैसे

  1. वह लिख रहा है।
  2. वह पढ़ता है।
  3. मोहन देख रहा है।

भूतकाल – Bhootkal

जो बीते हुए समय का बोध कराए, उसे भूतकाल कहते हैं।
जैसे

  1. वह लिख रहा था।
  2. वह भागता था।
  3. वह रोया।

भविष्यत् काल – Bhavishya Kal

जो आने वाले समय का ज्ञान कराए, उसे भविष्यत् काल कहते हैं।
जैसे

  1. वह लिखेगा।
  2. मोहन पत्र लिखेगा।

वर्तमान काल के भेद

सामान्य वर्तमान

जिसमें क्रिया सामान्य रूप से पाई जाती है, उसे सामान्य वर्तमान कहते हैं।
जैसे – लड़का खाता है। यहाँ क्रिया सामान्य रूप की है।

अपूर्ण वर्तमान

जहाँ कार्य पूरा न होकर चल रहा हो, वहाँ अपूर्ण वर्तमान होता है।
जैसे – लड़का जा रहा है। यहाँ कार्य पूरा नहीं हुआ। अतएव क्रिया वर्तमान में होते हुए भी अपूर्ण वर्तमान में मानी जाएगी।

संदिग्ध वर्तमान

जिसमें क्रिया के होने अथवा करने में संदेह हो, वहाँ संदिग्ध वर्तमान होता है।
जैसे – लडका पढ़ता होगा। यहाँ क्रिया सन्देह प्रगट करती है; अतएव संदिग्ध वर्तमान है।

भविष्यत् काल के भेद

सामान्य भविष्यत्

क्रिया के जिस रूप से आने वाले समय में क्रिया का सामान्य रूप से होना पाया जाए, उसे सामान्य भविष्यत् कहते हैं।
जैसे – राम पत्र लिखेगा।

सम्भाव्य भविष्यत्

क्रिया के जिस रूप से आने वाले समय में क्रिया के होने की संभावना पाई जाए, उसे सम्भाव्य भविष्यत् कहते हैं।
जैसे – शायद राम आ जाए। यहाँ राम के आने की संभावना है।

भूतकाल के भेद

सामान्य भूत

बीते हुए काल में क्रिया के सामान्य रूप को सामान्य भूत कहते हैं।
जैसे – ‘राम घर गया।

आसन्न भूत

जिसमें क्रिया से यह पता चलता है कि वह थोड़ी देर पहले समाप्त हुई, उसे आसन्न भूत कहते हैं।
जैसे – राम अभी गया है। यहाँ कार्य थोड़ी देर पहले हुआ है।

अपूर्ण भूत

जिसमें क्रिया के भूतकाल में होते रहने का ज्ञान हो उसे अपूर्ण भूत कहते हैं।
जैसे – राम जा रहा था।

पूर्ण भूत

जिस क्रिया के पूरे होने का ज्ञान हो, उसे पूर्ण भूत कहते हैं।
जैसे – राम गया था। इसमें क्रिया पूर्ण रूप से समाप्त हो गई। अतएव इस क्रिया का काल पूर्णभूत है।

संदिग्ध भूत

जिसमें क्रिया के होने में सन्देह हो, उसे संदिग्ध भूत कहते हैं।
जैसे-राम गया होगा।

हेतु-हेतु-मदभूत

जिसमें क्रिया के होने में कोई शर्त पाई जाए, उसे हेतु-हेतु -मदभूत कहते हैं।
जैसे -‘यदि मैं आता, तो राम जाता’। यहाँ ‘यदि’ शब्द के कारण शर्त लगी है। अतएव इस क्रिया का काल हेतु-हेतु मदभूत है।

क्रिया के रूप

वर्तमाल काल में ‘लिखना- क्रिया के रूप

सामान्य वर्तमान

पुल्लिग
पुरुषएकवचनबहुवचन
उत्तम पुरुषमैं लिखता हूँ।हम लिखते हैं।
मध्यम पुरुषतू लिखता है।तुम लिखते हो।
अन्य पुरुषवह लिखता है।वे लिखते हैं।
स्त्रीलिंग
एकवचनबहुवचन
मैं लिखती हूँ।हम लिखती हैं।
तू लिखती है।तुम लिखती हो।
वह लिखती है।वे लिखती हैं।

भूतकाल में ‘पढ़ना’ क्रिया के रूप

सामान्य भूत

पुल्लिग
पुरुषएकवचनबहुवचन
उत्तम पुरुषमैं पढ़ा।हमने पढ़ा।
मध्यम पुरुषतूने पढ़ा।तुमने पढ़ा।
अन्य पुरुषउसने पढ़ा।उन्होंने पढ़ा।
स्त्रीलिंग
एकवचनबहुवचन
मैंने पढ़ी।हमने पढ़ी।
तूने पढ़ी।तुमने पढ़ी।
उसने पढ़ी।उन्होंने पढ़ी।

भविष्यत् काल में ‘देखना’ क्रिया के रूप

सामान्य भविष्यत्

पुल्लिग
पुरुषएकवचनबहुवचन
उत्तम पुरुषमैं देखूगाहम देखेंगे।
मध्यम पुरुषतू देखेगा।तुम देखोगे।
अन्य पुरुषवह देखेगा।वे देखेंगे।
स्त्रीलिंग
एकवचनबहुवचन
मैं देखूगी।हम देखेंगी।
तू देखेगी।तुम देखोगी।
वह देखेगी।वे देखेंगी।

तो दोस्तों आपको यह Kal (काल) Tense in Hindi पर यह article कैसा लगा। कमेंट करके जरूर बताये। अगर आपको इस निबंध में कोई गलती नजर आये या आप कुछ सलाह देना चाहे तो कमेंट करके बता सकते है।

Leave a Comment