Easy Learn Upsarg उपसर्ग – Paribhasha, Bhed | Upsarg in Hindi in 2021

हेल्लो दोस्तों कैसे है आप सब आपका बहुत स्वागत है इस ब्लॉग पर। हमने इस आर्टिकल में Upsarg (उपसर्ग) in Hindi डिटेल में पढ़ाया है जो कक्षा 5 से लेकर Higher Level के बच्चो के लिए लाभदायी होगा। आप इस ब्लॉग पर लिखे गए Upsarg in Hindi को अपने Exams या परीक्षा में इस्तेमाल कर सकते हैं


उपसर्ग से तात्पर्य – Upsarg kise kahate hain | Upsarg ki Paribhasha

जो शब्दार्थ किसी शब्द से पहले लगकर उसका अर्थ बदल देते हैं अथवा उसमें नई विशेषता उत्पन्न करने हैं, वे उपसर्ग कहलाते हैं।

जैसे : ‘अयोग्य’ शब्द ‘अ’ शब्दार्थ तथा योग्य’ शब्द के मेल से बना है और उसने योग्य शब्द के अर्थ को बदल डाला है। ध्यान रहे ‘अ’ शब्दांश है-शब्द नहीं। इसी प्रकार कुचाल’ शब्द ‘कु’ उपसर्ग+ चाल’ से बना है। ‘कु’ भी शब्द न होकर शब्दांश है।

हिंदी भाषा के शब्दों में संस्कृत, हिंदी तथा उर्दू-फारसी और अरबी के उपसर्ग लगे हैं।

संस्कृत के उपसर्ग – Upsarg Examples in Sanskrit

हिंदी में संस्कृत के निम्नलिखित उपसर्ग हैं।

उपसर्गबनने वाले शब्दों के उदाहरण
अतिअति + अंत = अत्यंत, अति + प्राचीन = अतिप्राचीन।
अधिअधि + कार = अधिकार, अधि + पति = अधिपति।
अनुअनु+ भव = अनुभव, अनु + शासन = अनुशासन।
अपअप + कार = अपकार, अप + मान = अपमान।
अभिअभि + आगत = अभ्यागत, अभि + मान अभिमान।
अवअव + काश = अवकाश, अव + सान = अवसान।
आ + कर्षण = आकर्षण, आ + गमन = आगमन।
उत्उत् + चारण = उच्चारण, उछ् + श्वास = उच्छवास।
उपउप + कृत = उपकृत, उप + योग = उपयोग।
दुस/दुरदुर + आचार = दुराचार, दुस् + साध्य = दुस्साध्य।
निस्/निरनिस् + संकोच = निस्संकोच, निर् + आदर = निरादर।
निनि: यम = नियम, नि:वास = निवास।
परापरा + जय = पराजय, परा + भव = पराभव।
परिपरि + ईक्षा = परीक्षा, परि + कार = परिष्कार।
प्रप्र + = प्रचार, प्र + सिद्धि = प्रसिद्धि।
प्रतिप्रति + कार = प्रतिकार, प्रति + एक = प्रत्येक।
वीवि+ कल = विकल, वि + जय = विजय।
सुसु+ गम = सुगम, सु + पथ = सुपथ।
अ+ काल = अकाल, अ + धर्म = अधर्म।
अनअन् + अन्त = अनन्त, अन् + उचित = अनुचित।
संसम् + कल्प = संकल्प, सम् + ग्राम = संग्राम।
कुकु + कर्म = कुकर्म, कु + पुत्र = कुपुत्र।

हिंदी के उपसर्ग – Upsarg Examples in Urdu

उपसर्गउदाहरण
अ + लग = अलग, अ + टल = अटल।
अधअध + खिला = अधखिला, अध + मरा = अधमरा।
अनअन + जान = अनजान, अन + देखी = अनदेखी।
उनउन + तीस = उनतीस, उन +सठ = उनसठ।
ओ/अवऔ + गुण = औगुण, अव + गुण = अवगुण।
क/कुक + पूत = कपूत, कु + ढंग = कुढंग।
चौचौ + राहा = चौराहा, चौ + मासा = चौमासा।
दुदु + धारू = दुधारू, दु + अन्नी = दुवन्नी।
निनि + डर = निडर, नि + कम्मा = निकम्मा।
परपर + नाना = परनाना, पर + दादा = परदादा।
बिनबिन + ब्याहा = बिनब्याहा, बिन + खाया = बिनखाया।
भरभर + पेट = भरपेट, भर+ पूर = भरपूर।
स/सस + हित = सहित, स + पूत = सपूत।

उर्दू – फारसी के उपसर्ग

उपसर्गउदाहरण
कमकमज़ोर, कमबख्त, कमखर्च, कमउम्र।
ग़ैरगैरकानूनी, गैरजिम्मेदार, गैरहाज़िर।
खुशखुशबू, खुशमिज़ाज, खुशकिस्मत।
दरदरअसल, दरहकीकत।
नानागवार, नासमझ, नालायक, नादान।
बखूबी, बनाम, बदौलत।
बाबाइज्जत, बाकायदा, बावजूद।
बदबदनाम, बदसूरत, बदकिस्मत।
हमहमसफर, हमदम, हमउम्र।
बेबेवजह, बेअदब, बेइज्जत।

तो दोस्तों आपको यह Upsarg (उपसर्ग) in Hindi पर यह article कैसा लगा। कमेंट करके जरूर बताये। अगर आपको इस निबंध में कोई गलती नजर आये या आप कुछ सलाह देना चाहे तो कमेंट करके बता सकते है।

Leave a Comment