Easy Learn Vachan वचन – Paribhasha, Bhed in Hindi in 2021

हैल्लो दोस्तों कैसे है आप सब आपका बहुत स्वागत है इस ब्लॉग पर। हमने इस आर्टिकल में Vachan वचन in Hindi डिटेल में पढ़ाया है जो कक्षा 5 से लेकर Higher Level के बच्चो के लिए लाभदायी होगा। आप इस ब्लॉग पर लिखे गए Vachan वचन in Hindi को अपने Exams या परीक्षा में इस्तेमाल कर सकते हैं


vachan-kis- kahate-hain

पहले चित्र में एक का ज्ञान हो रहा है और दूसरे चित्र में अनेक का।

वचन किसे कहते है – Vachan kis- kahate-hain

जिससे एक या अनेक का ज्ञान हो, उसे वचन कहते हैं।
जैसे – घोड़ा-अनेक घोड़े, पत्ता-एक पत्ता, अनेक पत्ते।

वचन के भेद

वचन के दो भेद होते है।

  1. एकवचन (Singular)
  2. बहुवचन

एकवचन (Singular)

जो एक का ज्ञान कराए उसे एकवचन कहते हैं।
जैसे – घोड़ा, लड़का, लड़की।

बहवचन (Plural)

जो एक से अधिक का ज्ञान कराए, उसे बहुवचन कहते हैं।
जैसे – घोड़े, लड़के, लड़कियाँ।

वचन की पहचान

  • वचन की पहचान संज्ञा अथवा सर्वनाम शब्दों से होती है।
  1. वह पढ़ रहा है। 1. वे पढ़ रहे हैं।
  2. मैं फल खा रहा था। 2.हम फल खा रहे थे।
  • जब वचन की पहचान संज्ञा अथवा सर्वनाम शब्द से न हो सके तो क्रिया से हो जाती है।

(क) बालक पढ़ रहा है। – (क) बालक पढ़ रहे हैं।
(ख) हिरन दौड़ रहा है। (ख) हिरन दौड़ रहे हैं।
(ग) मोर नाच रहा है। (ग) मोर नाच रहे हैं।

एक वचन के स्थान पर बहुवचन का प्रयोग

  • आदर देने के लिए एक वचन के स्थान पर बहुवचन का प्रयोग होता है।
  • जैसे
    • पिताजी दफ्तर जा रहे हैं।
    • श्री राम सबके प्यारे थे।
  • बड़प्पन दर्शाने के लिए बहुवचन का प्रयोग होता है।
  • जैसे
    • महात्मा गांधी एक देशभक्त थे।
    • वे कई बार जेल गए।
  • केश, रोम, अश्रु, प्राण, लोग, दर्शन, दर्शक आदि शब्द बहुधा बहुवचन के रूप में प्रयुक्त होते हैं।
  • जैसे
    • जैसे- मेरे केश काले हैं।
    • सब दर्शक वहाँ एकत्रित हुए।

बहुवचन के स्थान पर एकवचन का प्रयोग

  • द्रव्य वाचक और जातिवाचक शब्दों का प्रयोग एक वचन में किया जाता है।
  • जैसे
    • जैसे-सोना महंगी वस्तु है।
    • बम्बई का आम स्वादिष्ट होता है।

बहुवचन बनाने के नियम

अकारान्त स्त्रीलिंग शब्दों के अन्त्य ‘अ’ को ‘एँ’ कर देने से बहुवचन बनते हैं। एकवचन

एकवचनबहुवचन
बातबातें
रातरातें
दवातदवातें
पुस्तकपुस्तके
आँखआँखें
गायगायें

अकारान्त पुल्लिग शब्द में ‘आ- को ‘ए’ कर दिया जाता है।

एकवचनबहुवचन
घोड़ाघोड़े
गधागधे
लड़कालड़के
कुत्ताकुत्ते
बेटाबेटे

अपवाद – संबंधवाचक और संस्कृत के कुछ आकारान्त शब्दों का रूप नहीं बदलता।

नानानाना
पितापिता
चाचाचाचा
योद्धायोद्धा

आकारान्त स्त्रीलिंग शब्दों के आगे ‘एँ’ लगा देते हैं।

कन्याकन्याएँ
मालामालाएँ
लतालताएँ
कलाकलाएँ
मातामाताएँ

इकारान्त और ईकारान्त स्त्रीलिंग शब्दों में ‘याँ’ लगाकर इकारान्त की ई (१) को इ (f) में बदल दिया जाता है।

जातीजातियाँ
तिथितिथियाँ
नदीनदियाँ
लड़कीलड़कियाँ
नारीनारियाँ

‘या’ अन्त वाले स्त्रीलिंग शब्दों के अन्त में याँ हो जाता है

चिड़ियाचिड़ियाँ
लुटियालुटियाँ
चुहियाचुहियाँ
कुतियाकुतियाँ

उकारान्त, ऊकारान्त और औकारान्त स्त्रीलिंग शब्दों में ‘एँ’ लगाते हैं। ऊ को ह्रस्व उ में बदल देते हैं।

धेनुधेनुएँ
वस्तुवस्तुएँ
बहुबहुएँ

कुछ शब्दों में वृन्द, दल, वर्ग, जन, लोग आदि शब्द जोड़ कर बहुवचन बनाया जाता है।

गुरुगुरुजन
अमीरअमीर लोग
गरीबगरीब लोग
सेनासेना दल

कुछ शब्दों के रूप एकवचन और बहुवचन दोनों में होते हैं

जलजल
फलफल
प्रेमप्रेम
क्रोधक्रोध

तो दोस्तों आपको यह Vachan वचन in Hindi पर यह article कैसा लगा। कमेंट करके जरूर बताये। अगर आपको इस निबंध में कोई गलती नजर आये या आप कुछ सलाह देना चाहे तो कमेंट करके बता सकते है।

Leave a Comment