5 Best Letter to brother in Hindi | भाई को पत्र (Bhai ko Patra)

Bhai ko Patra Format | Letter to Brother Format

हेल्लो दोस्तों कैसे है आप सब आपका बहुत स्वागत है इस ब्लॉग पर। हमने इस आर्टिकल में Letter to brother in Hindi (Bhai ko Patra) डिटेल में पढ़ाया है जो कक्षा 5 से लेकर Higher Level के बच्चो के लिए लाभदायी होगा। आप इस ब्लॉग पर लिखे गए Letter to brother in Hindi (Bhai ko Patra) को अपने Exams या परीक्षा में इस्तेमाल कर सकते हैं


छोटे भाई का बड़े भाई के नाम पत्र (विद्यालय का परिचयात्मक वर्णन) – Bhai ko Patra | Letter to brother in Hindi

सरदार पटेल विद्यालय,
महर्षि रमण मार्ग, नई दिल्ली
5 जुलाई, 2021

आदरणीय भाई साहब,
सादर प्रणाम।

बहुत दिनों से आपका कोई कुशल-पत्र नहीं आया। क्या कारण है? आशा है कि घर पर सब ठीक होंगे। इस पत्र में मैं आपको अपने नए विद्यालय के बारे में लिख रहा हूँ।

सरदार पटेल विद्यालय दिल्ली के प्रथम श्रेणी के स्कूलों में से एक है। इस स्कूल का वातावरण और अनुशासन अद्वितीय है। यहाँ आठ सौ छात्र और छात्राएँ पढ़ते हैं। कक्षा का प्रत्येक कमरा प्रकाशयुक्त तथा हवायुक्त है। यहाँ लगभग 72 कुशल अध्यापक व अध्यापिकाएँ बड़े स्नेह और योग्यता से पढ़ाते हैं। हमारी प्रधानाचार्या श्रीमती विभा पार्थसारथी बड़ी अनुभवी और योग्य हैं। सब विद्यार्थियों पर उनका गहरा प्रभाव है।

पढ़ाई के साथ यहाँ खेल के दो बड़े मैदान हैं। एक बड़े विद्यार्थियों के लिए तो दूसरा छोटे बच्चों के लिए। फूलों की महक से भरा यहाँ एक प्रांगण है। यहाँ एक सुन्दर पुस्तकालय और एक छोटा-सा चिकित्सालय भी है। जलपान-गृह में स्वच्छता का विशेष ध्यान रखा जाता है। हमारे विद्यालय का वार्षिक परीक्षा परिणाम बहुत अच्छा रहता है। मुझे अपने इस विद्यालय पर गर्व है।

पूज्य माता-पिता को प्रणाम, भाभी जी को नमस्ते तथा ऐश्वर्या और रोमी को प्यार।

आपका अनुज,
प्रवेक


भाई को पत्र ऐतिहासिक स्थल सैर की जानकारी – Bhai ko Patra | Letter to brother in Hindi

प्रिय भैया,

मैं यहां सकुशल रहकर तुम्हारी कुशलता की आशा करता हूं। कल मैं आगरा से लौटा मैं अपने स्कूल मित्रों के साथ गया था। हम वहां ताजमहल देखने गए थे। हमारे इतिहास के अध्यापक श्री जी डी गुप्ता भी हमारे साथ गए थे।

रात्रि में हम आगरा के एक अच्छे होटल में ठहरे। अगले दिन हम ताजमहल देखने गए और उसे बहुत ही सुंदर पाया। हम में से हर एक ने उसे बेहद पसंद किया। हमारे अध्यापक ने हमें बताया कि उसे शाहजहां ने अपनी पत्नी की मधुर स्मृतियों के याद ताजा रखने के लिए बनवाया था। उन्होंने यह भी बताया।

यह संगमरमर में मधुर स्वप्न है

वहां 2 दिन ठहरने के बाद हम अपने कॉलेज छात्रावास लौट आए मैं विश्वास करता हूं कि मेरे इस कथन का तुम भी समर्थन करोगे। हमारे देश की इमारते में ताजमहल सुंदर इमारतों में से एक है।

तुम्हारा छोटा भाई,
प्रकाश

  • सम्पूर्ण निबंध लेखन पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।
  • सम्पूर्ण हिंदी व्याकरण पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।
  • यदि आपको इंग्लिश भाषा पढ़ना पसंद है तो यहाँ क्लिक करें – Bollywoodbiofacts

भाई को स्कूल के वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता के विषय में पत्र – Bhai ko Patra | Letter to brother in Hindi

सरदार पटेल विद्यालय,
महर्षि रमण मार्ग, नई दिल्ली
5 जुलाई, 2021

आदरणीय भैया,

हमारे स्कूल की वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिताएं आज संपन्न हुई। आपको जानकर प्रसन्नता होगी की हमने दो इनाम जीते। मैं ऊंची कूद और लंबी कूद में प्रथम आया।

स्पोर्ट्स स्टेडियम में हमारे स्पोर्ट्स की खुली प्रतियोगिताएं वहां लोगों की भारी भीड़ थी, जो हमारे स्पोर्ट्स को देखने आए थे इस अवसर पर कुल विशेष और सम्मानित अतिथि भी आए थे जिनका चाय नाश्ते के साथ सत्कार किया गया।

हमारे एनसीसी अध्यापक श्री विजय गुप्ता ने सभी प्रतियोगिताएं संपन्न कराई उन्होंने पहले 100 मीटर 1 मील और लंबी रेस की प्रतियोगिताएं कराई फिर चीकू तथा अन्य दिलचस्प प्रतियोगिताएं हुई रस्साकशी की प्रतियोगिता सबसे मजेदार थी इसमें 5 मिनट से अधिक जोर आजमाइश अली दोनों और के प्रतियोगियों ने खूब आनंद लिया अंत में कक्षा 11 कक्षा 10 को हराने में कामयाब रही सब कुछ बड़ा मजेदार रहा अगले वर्ष आप भी वार्षिक क्रीड़ा प्रतियोगिता के अवसर पर यहां आए आपका

आज्ञाकारी भाई
प्रकाश


छोटे भाई को कठिन परिश्रम करके प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण होने की प्रेरणा देते हुए पत्र – Bhai ko Patra | Letter to brother in Hindi

बेली रोड
पटना
तिथि 13-05-2021

प्रिय राकेश,

मैं यहां सकुशल हूं और ईश्वर से तुम्हारी कुशलता की कामना करता हूं तुम्हारी हाई स्कूल की परीक्षा शीघ्र ही आरंभ होने वाली है मुझे विश्वास है कि तुम अपना कोर्स दोहरा लिये होगी तुम्हें कठिन परिश्रम करने की सलाह देता हूं ताकि तुम प्रथम श्रेणी हो सके इससे कम नहीं आना चाहिए इससे पिताजी को पूर्ण संतोष मिलेगा। तुम्हारे बड़े भाई बहनों के सभी के परीक्षा फल प्रथम श्रेणी में आए हैं फिर तुम्हारा क्यों ना आए?
सस्नेह

तुम्हारा प्यारा,
दिनेश


नवम वर्ग में पढ़नेवाले अपने छोटे भाई को प्रेरित करते हुए एक पत्र लिखें, जिसमें बोर्ड परीक्षा में ‘वन टू टेन’ में स्थान पाने के लिए आपने कैसी तैयारी की है इसका वर्णन हो।

प्रिय वरदान, पटना
स्नेहाशीष। तिथि ………..

तुम्हारा पत्र मिला। यह जानकार खुशी हुई कि तुम नवम वर्ग की परीक्षा की तैयारी में जुटे हुए हो । उक्त परीक्षा में अधिकतम अंक प्राप्त करने के लिए अपने पाठ्यक्रम को पूरी निष्ठा एवं क्षमता के साथ पूरा करो एवं अनुपयोगी कार्यों में अपना समय नष्ट न करो।

मैं आगमी बोर्ड परीक्षा की तैयारी के लिए अधिकांश समय पठनपाठन में व्यतीत कर रहा हूँ। मैंने ‘वन टू टेन’ में स्थान पाने का अपना लक्ष्य बना लिया है। अतः इसके लिए मैंने निर्धारित समय-तालिका के अनुसार विषयवार अध्ययन कर रहा हूँ। खेल-कूद एवं अन्य कार्यों में अब मैं अल्प समय देता हूँ। मेरी सलाह है कि तुम भी अपनी दिनचर्या निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार तय करके अपना अध्ययन जारी रखो। बिना किसी लक्ष्य के जीवन में हम सफल नहीं हो सकते।

आशा है, मेरे सुझावों पर अमल करके तुम परीक्षा में सर्वोच्च स्थान प्राप्त करने में सफल होगे। आदरणीय पिताजी, माताजी एवं अन्य बड़ों को मेरा सादर प्रणाम तथा छोटों को स्नेहाशीष ।।

पता : तुम्हारा अग्रज
सागर


Leave a Comment